फिल्म स्टडीज प्रोग्राम

फिल्म हमारे युग में सांस्कृतिक तौर पर सबसे अधिक प्रभावशाली कलात्मक माध्यम है और CBU भौगोलिक रूप से अमेरिकन फिल्ममेकिंग इंडस्ट्री के धड़कते दिल के बिल्कुल पास में स्थित है। यह मुख्य विषय विद्यार्थियों को फिल्म को एक कल्चर-शेपिंग फोर्स के तौर पर समझने और मनोरंजन इंडस्ट्री में कैरियर पाने की कोशिश करने दोनों के लिए ही समर्थ बनाता है। वे तीन कार्यों में से एक का चयन करके ऐसा कर सकते हैं: फिल्म प्रोडक्शन, स्क्रीनराइटिंग अथवा फिल्म समीक्षा।

फिल्म स्टीडज के मुख्य विषय तेज व गंभीर सोच कुशलताएं और बहुमूल्य तकनीकी जानकारी एवं अनुभव विकसित करते हैं, लेकिन, सबसे अधिक महत्वपूर्ण बात यह है कि, फिल्म स्टडीज का प्रमुख विषय सामाजिक रूप से लागू व सांस्कृतिक रूप से महत्वपूर्ण ऑडियो-विजुअल साक्षरता को विकसित करता है। एक ऐसी दुनिया में, जो विजुअल जानकारी पर बहुत अधिक निर्भर रहती है, एक समझ कि गतिमान चित्र में से अर्थ कैसे निकाला जा सकता है और यह काफी गहरी सामाजिक व सांस्कृतिक समझ के लिए जरूरी बन जाता है। हमारे विद्यार्थी सीखते हैं कि अति आधुनिक उपकरणों, रेड कैमरों सहित, पर उच्च किस्म की फिल्में बनाकर फिल्ममेकिंग में इस जानकारी का इस्तेमाल कैसे करना है।

CBU में, हम चाहते हैं कि हमारे फिल्म के विद्यार्थियों को अधिक से अधिक प्रायोगिक अनुभव प्राप्त हो। CBU में फिल्म स्टडीज के विद्यार्थी अपने प्रोडक्शन कोर्स प्रोजेक्टों अथवा अन्य पेशेवर या निजी प्रोजेक्टों पर काम करने के लिए CAVAD के फिल्म उपकरण देख सकते हैं। फिल्म स्टडीज प्रोग्राम उन विद्यार्थियों को यूनिवर्सिटी क्रेडिट भी पेश करता है, जो इंटर्नशिप्स में भाग लेते हैं, जिससे विद्यार्थियों को फिल्म या टेलीविजन इंडस्ट्री के कुछ भागों में काम करने का मौका मिलता है। इसके अलावा, विद्यार्थियों को लॉस एंजिलस फिल्म स्टडीज सेंटर में सेमेस्टर-अवधि प्रोग्राम के लिए आवेदन करने के लिए उत्साहित किया जाता है, जिसमें विद्यार्थी हॉलीवुड में एक इंटर्नशिप में भाग लेते हैं और अपनी फिल्म स्टडीज डिग्री की यूनिटें प्राप्त करते हुए फिल्ममेकिंग के सभी पहलुओं के बारे में सीखते हैं।

फिल्म स्टडीज अमेरिकी अंर्तविषयक में यूनिवर्सिटीज एवं कॉलेजों में सबसे अधिक तेजी से बढ़ने वाले विषयों में से एक है | फिल्म स्टडीज अन्य क्षेत्रों को सम्मिलित करती है जैसे कि इतिहास, आर्ट, प्रसिद्ध संस्कृति व कम्युनिकेशंस। फिल्म स्टडीज के मुख्य विषय समीक्षा, सिंथेसिस व मल्टीटास्किंग की जरूरी गतिविधियों का अभ्यास कराते हैं, जिनकी बहुत-से नियोक्ता मांग करते हैं। इसके परिणामस्वरूप, कई फिल्म स्टडीज से ग्रेजुएट लोग फिल्म प्रोडक्शन कंपनियों, फिल्म पुरालेखों व त्यौहारों के साथ पोजीशन पाते हैं अथवा आर्ट मैनेजरों, समीक्षकों, पत्रकारों, स्वतंत्र कलाकारों व अध्यापकों के रूप में काम करते हैं। फिल्म स्टडीज के मुख्य विषय निम्न क्षेत्रों में राष्ट्रीय तौर पर नौकरी की खोज में प्रतिस्पर्द्धापूर्ण हैं:

  • स्वतंत्र अथवा औद्योगिक फिल्ममेकर
  • फिल्म संपादक
  • आलोचक अथवा आर्ट्स पत्रकार
  • प्रेस एजेंट
  • फोटोग्राफर
  • अभिनेता/अभिनेत्री, कलाकार
  • स्टूडियो क्रय-विक्रय अथवा वितरण कंपनी कार्य
  • नाटककार अथवा कहानी संपादक
  • फिल्म पुरालेख, म्युजियम स्टीडज, प्रोग्राम अनुसंधानकर्ता
  • पर्यटन इंडस्ट्री अथवा सामुदायिक आर्ट्स श्रमिक
  • कास्टिंग (कलाकारों का चयन करने वाला) निर्देशक अथवा कास्टिंग सहायक
  • थिएटर प्रबंधक अथवा प्रचारक
  • टेलीविजन प्रोडक्शन, कैमरा ऑपरेटर, सेंसर अथवा कलराइज़िंग टेक्नीशियन
  • स्क्रीनराइटर, एनीमेटर, स्क्रिप्ट राइटर अथवा स्क्रिप्ट सुपरवाइजर
  • पुस्तकालय सहायक अथवा सहायक भाषा अध्यापक
  • प्रोग्राम सहायक अथवा निर्देशकों अथवा निर्माताओं का निजी सहायक
  • टैलेंट एजेंट अथवा टैलेंट प्रतिनिधि

[request_info_cta]